#ResumeGujRecruits ट्विटर अभियान का परिणाम PGVCL Result Declared

ट्विटर अभियान का असर PGVCL ने सिलेक्स्ट लिस्ट जारी किया। #ResumeGujRecruits

आज गुजरात मे बेरोजगारी का मुद्दा सबसे बड़ी समस्या है। और युवाओ आंदोलन करने पर मजबूर हो चुके है।

  • गुजरातमे बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर स्टूडेंट बार बार सड़क पर आ रहे है ।
   हाल ही में कोरोना जैसी महामारी के चलते गुजरात के बेरोजगार युवाओ ने 31 मई को ट्विटर पर #ResumeGujRecruits अभियान चलाया था जिनमे गुजरात के 7 लाख युवाओ ने ट्वीट किया फिर रात को VTV में इस मुद्दे को लेकर दो घंटे तक महामंथन हुवा और फिर बडगांव के विधायक और RDAM के अध्यक्ष Jignesh Mevani ने भी अपने ट्विटर एकाउंट पर @Pmoindia को टेग करते हुवे ट्वीट किया उसके बाद राज्य सरकार ने PGVCL की भर्ती में क्वॉलिफाई हुवे 1162 उमेदवार की सिलेक्ट लिस्ट जारी की।

यह लिस्ट आप यहाँपर दी गई लिंक से डाउनलोड कर चकते है।

अभी भी गुजरात मे काफी सारी भर्तीया लटकी हुवी है।


   हालांकि सूत्रों के हवाले से यह बात भी सामने आ रही है कि राज्य सरकार के पास फंड ना होने की वजह से यह भर्तीया रोक दी गई है। लेकिन इस में कोई तथ्य निकल के सामने नही आ रहा। क्योंकि यह सारी भर्तीया कोरोना के पहले की है। और इसका बजेट पहले से राज्य सरकार ने निकाल कर रख्खा हुवा है। तो फिर राज्य सरकार के पास पैसा ना हो यह बात समजमे नही आ रही।

 हकीकत तो यह है कि GAD का 01/08/2018 का ठराव इन भर्तीओ पर लगाई गई रोक का मुख्य कारण है। क्योंकि नायब मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने LRD आंदोलन के चलते GADके 01/08/2018 का ठराव को बिना लागू किए LRD महिला उमेदवार की भर्ती करने की घोषणा की थी। और ऐसा एलान किया था की जब तक GAD 01/08/2018का ठराव का कोई समाधान नही होंगा तब तक राज्य सरकार कोई भी भर्ती नही करेंगी।

   आपको बतादे की GAD 01/08/2018 ठराव महिला रिजर्वेशन के लिए है। और इस ठराव की वजह से गुजरातमे बहुत बड़ा आंदोलन हुवा था जिसमे OBC/ST/SC केटेगरी की बहन बेटिओ ने 72 दिन तक गांधीनगर में आंदोलन चलाया और LRD भर्ती में यह ठराव को नहीं लागू होने दिया।

 आपको बतादे की इस ठराव का पुरुष उमेदवारो की भर्ती पर कोई लेना देना नही है। लेकिन भर्ती में महिला पुरुष दोनोके लिए सीट होती है और जब तक यह ठराव का कोई समाधान ना निकले तबतक नई भर्तीया नहीं होंगी। ईस लिए हमे पहले ठराव को हटाने के लिए आंदोलन करना होंगा तभी नई भर्तीया होंगी।

अंत मे आप लोगो को सिर्फ़ इतना ही कहना चाहेंगे कि ईस सरकार के चलते सरकारी नोकरी के लिए आपको पढ़ाई के साथ-साथ रॉड पर भी उतरना होंगा। क्योकि यह तानाशाही वाली सरकार है। जबतक आप अपने हक और अधिकारों के लिए आवाज नहीं उठाते तबतक यह सरकार कोई काम करने वाली है नही।

कृपिया इस पोस्ट को गुजरातके बेरोजगार युवाओ तक पहोंचाने में हमारी मदद करे।